ख्वाहिशें

वो हसरतें जो लम्हा लम्हा वक़्त के साथ खत्म होती रही।

वो मेरी ज़िन्दगी की सबसे बड़ी गलती थी जो मेरी वजूद को आहिस्ता आहिस्ता मिटाती रही।

मेरी मोहब्बत को दुनिया ने मेरा नाकारापन समझा, वो धीरे धीरे बढ़ती रही और में हर पल मरता रहा।

Advertisements

SHAYARI CHAND ALFAAZ NHI AAINA HAIN

Dard bhare jazbaat jab kalam ki zariye bayan hon toh samjho shayari ki shuruwat hai yeh , ishq jab had se guzar jaye aur yeh junon alfazon se gulnar hon toh samjho shayari ki shuruwat hai yeh.

Waqt ke mod jab lamhon mein bayan hon toh sanjho shayari ki shruwat hai